नवाज की भतीजी ने खोले काले राज, यौन उत्पीड़न की शिकायत पर चाचा बोले- तुम्हारी मां हिंदू थी.. देखें Video

0
192

एक्टर नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी के छोटे भाई मीनाज के खिलाफ हाल ही में यौन उत्पीड़न और शारीरिक हिंसा का मामला दर्ज किया गया है। मामला नवाज़ुद्दीन की भतीजी साशा सिद्दीकी ने दर्ज करवाया है। मीडिया  को दिए एक इंटरव्यू में साशा ने अपने आरोपों को लेकर विस्तार से बात की है।

इससे नवाजुद्दीन के परिवार के लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। बकौल साशा जब उसने नवाजुद्दीन और उनके परिवार को इस बारे में बताया तो उसे दुत्कार दिया गया। उससे कहा गया कि तुम्हारी मॉं हिंदू थी, तो तुम्हारी बातों पर कैसे यकीन कर लें।

साशा ने बताया अपने साथ हुए दुष्कर्म के बारे में जब उसने नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और उनके परिवार वालों को बताया तब उन लोगों ने उससे कहा कि वह एक हिंदू माँ की संतान हैं और इसलिए वह झूठी है। उसने आगे बताया कि उसकी माँ ने अपने माँ-बाप के खिलाफ जा कर प्रेम विवाह किया था। लेकिन लगातार उत्पीड़न और शारीरिक हिंसा के कारण उसकी माँ ने सिद्दीकी परिवार को छोड़ तलाक ले लिया था।

इंटरव्यू में सिद्दीकी की भतीजी शाशा सिद्दीकी ने कहा है कि उसके साथ यौन उत्पीड़न तब शुरू हुआ जब वह केवल नौ साल की थी। उस समय, उसे समझ नहीं आया कि उसके साथ क्या हो रहा है, मगर समय के साथ उसने गुड टच और बैड टच के बीच अंतर के बारे में पता चला। उसने अपने परिवार को इस हरकत के बारे में बताने की कोशिश की, लेकिन कोई भी उसके बचाव में नहीं आया। कथित तौर पर जब वह 8 वीं क्लास में थी, उसके पिता ने उसकी पढ़ाई जारी रखने से इनकार कर दिया, क्योंकि उनका मानना ​​था कि लड़कियों को शिक्षा नहीं देना चाहिए।

साशा ने बताया एक रात जब वह दिल्ली में थी, चाचा मिनाज़ उसके कमरे में आए और उसे यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर करने की कोशिश की। जब मैंने इसका विरोध किया, तब उन्होंने अपनी बेल्ट निकाली और मुझे पीटना शुरू कर दिया। साशा ने कहा कि उसके पास सबूत के तौर पर शारीरिक हमले (चोट के जख्म और निशान) की तस्वीरें भी है, जो उसने उस वक्त अपने बॉयफ्रेंड को भेजा था, जिसके साथ अब उसकी शादी हो चुकी है।

साशा ने यह भी कहा है कि जब उसने शादी करने का फैसला किया, तो उसके पिता के परिवार ने उसके पति और ससुराल वालों के खिलाफ कई झूठे आरोप लगाए। इसमें उसकी कम उम्र को लेकर झूठे डॉक्यूमेंट दिखाए गए, जो बाद में अदालत में गलत साबित हुए।

उसने आगे बताया कि नवाजुद्दीन का परिवार, जिसमें उनके खुद के पिता भी शामिल हैं, वर्षों से उसके पति के परिवार को लगातार धमकियों और अदालती मामलों को लेकर परेशान कर रहे हैं।

उसने आरोप लगाया कि सिद्दीकी परिवार में शारीरिक हमला, हिंसा, धमकी और घरेलू शोषण एक आम बात है जिसका कई महिलाओं ने सामना किया है। उसने आरोप लगाया कि नवाजुद्दीन की पत्नी (जिसने तलाक के लिए अर्जी दाखिल की है), उसकी अपनी माँ और उसकी चाची ने भी शारीरिक शोषण और हिंसा का सामना किया है। उसने बताया कि नवाजुद्दीन के भाई स्वभाव से गुस्सैल और अपमानजनक हैं। इस परिवार का माहौल आमतौर पर हिंसक रहता है।

इंटरव्यू में नवाजुद्दीन की भतीजी ने यह भी कहा कि जब नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी को उसके द्वारा दर्ज की गई एफआईआर के बारे में पता चला, तो उसने उसे इस बारे में बात करने के लिए बुलाया था। उसे शिकायत वापस लेने के लिए कहा गया। लेकिन उसने ऐसा करने से इनकार कर दिया।

उसने कहा कि पहले नवाज़ुद्दीन ने उसकी बात गलत कहते हुए इग्नोर कर दिया था। उस वक़्त नवाज़ुद्दीन ने यह कह कर बात टाल दी थी कि मिनाज़ सिद्दीकी उसके चाचा हैं और वह ऐसा कभी नहीं कर सकते।