धार्मिक स्थलों को खोलने पर बोले आकाश चोपड़ा- भगवान हर जगह हैं.. ऐसे पीछे पड़ गए ट्रोल

0
122

नई दिल्ली
पूर्व भारतीय क्रिकेटर आकाश चोपड़ा शनिवार को उस वक्त ट्रोल हो गए, जब उन्होंने लॉकडाउन के साथ धार्मिक स्थलों को खोलने पर ट्वीट किया। कोविड-19 महामारी के कारण देशभर में पिछले दो महीने से भी ज्यादा वक्त से लागू लॉकडाउन को खोलने का फैसला किया गया है और केंद्र सरकार ने इसे ‘अनलॉक’ नाम दिया है।

8 जून से शुरू होने वाला पहला चरण ‘अनलॉक 1’ होगा जिसमें रेस्त्रां, होटल, मॉल, शॉपिंग सेंटर और धार्मिक स्थलों को खोलने की इजाजत दी गई है। केंद्र सरकार के इस ऐलान के बाद आकाश चोपड़ा ने अपने ट्वीट में धार्मिक स्थलों को खोलने पर सवाल उठाया। इसके बाद वह ट्रोल हो गए।

कॉमेंट्री में जाने-माने नाम 42 साल के आकाश चोपड़ा ने ट्वीट किया, ‘मॉल, रेस्त्रां आदि .. ये वित्तीय जरूरतों के लिए जरूरी हैं.. और शायद, इसलिए उन्हें हमेशा के लिए बंद रखना संभव नहीं है लेकिन हमें धार्मिक स्थलों को खोलने की जरूरत क्या है? भगवान हर जगह है…. या नहीं है?’ उनके इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर उन्हें जमकर ट्रोल किया जा रहा है।

एक यूजर ने तो पुजारियों की आमदनी को लेकर भी सवाल उठाया कि वे भी लॉकडाउन में कुछ कमाई नहीं कर पा रहे थे।

वारंदनी नाम के एक यूजर ने लिखा कि ईश्वर हर जगह है।

वहीं, एक यूजर ने लिखा कि क्रिकेट तो गली में भी खेला जा सकता है। एक अन्य ने लिखा कि क्रिकेट में कॉमेंट्री का क्या काम।

‘अनलॉक-1’ में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर शर्तों के साथ शॉपिंग मॉल, रेस्तरां, सैलून, होटल तथा अन्य आतिथ्य सेवाएं शुरू करने की अनुमति भी दी जाएगी।