Top News
राज्यसभा में भी नागरिकता संशोधन बिल को हरी झंडी, पक्ष…CAB : 727 नामचीन हस्तियों ने बताया संविधान विरोधी, लिखा…ये लड़का हर महीने 5 औरतों को बनाता है मां,…जोक्स: पड़ोसन को किस करते लड़के ने पूछा- तुम्हारा पति…हिंदू धर्म में अंतिम संस्‍कार के बाद आवश्यक है स्‍नान,…प्रियंका चोपड़ा जब सरेआम हुईं Oopss मोमेंट का शिकार, देखें…ये लड़की 130 किलो से 62 तक पहुंची, बताई अपनी…ये हैं भारत के पांच सबसे महंगे मकान, एक तो…बच्चों को सैनिक बनाने के लिये खुला स्कूल, लेकिन वहां…WhatsApp पर इस सिक्यूरिटी फीचर को 1 मिनट से कम…काजोल और रानी सिर्फ कहने को हैं बहनें, इस वजह…इंटरव्यू का सवाल: कौन सी चीज नहीं होती पानी में…इन 4 कामों को अधूरा छोड़ने की शास्त्रों में सख्त…शाहरुख को अपना अवॉर्ड समर्पित किया ये इंडोनेशियन एक्टर, वजह…Video : सरकार से बोली शिवसेना- जिस स्कूल में आप…बिग बॉस: विकास ने ‘पोस्ट ऑफिस’ टास्क में चलाया ऐसा…इस न्यूकमर के गॉडफ़ादर बने सलमान, इस तरह से मदद…स्टेज पर गिरने वाली थीं सारा अली खान, लेकिन कार्तिक…रातों रात दूध जैसी गोरी होगी रंगत, घर बैठे बनाएं…जिस 2000 रुपए की ‘नोटबंदी’ की खबर वायरल, जानिए क्या…एकसाथ बिछा दी 2 बहनों की लाशें, मर्डर वेपन- रोटी…छात्रा को अकेला देख ड्राईवर बन गया हैवान, बस में…‘दबंग 3’ के मेकर्स दे रहे आपको ‘चुलबुल’ स्वैग का…जाह्नवी से गरीब बच्चे ने मांगे पैसे, दे दी ऐसी…RISAT-2BR1 सेटेलाइट इसरो ने किया लॉन्‍च, अब देश दुश्मनों पर…अवैध खनन की जांच करने गए अफसर पा गए सोने…पहाली रात पर दुल्हन का खुला ऐसा राज, दूल्हे को…आटे में चुपके से रख दें ये चीजें, फिर देखिए…तिहाड़ में लगातार टीवी देख रहे निर्भया के गुनाहगार, हर…युवी के रिटायरमेंट पर मां ने पहली बार जाहिर किए…दूसरे धर्म के लड़के संग जिंदगी बिताने का बनाया प्लान,…रेखा को अमिताभ की जिंदगी से यूं बाहर निकालीं जया,…सर्दी-जुखाम को इस लड़के ने लिया हल्के में, कीमत चुकाई…विराट रिकॉर्ड से सिर्फ 6 कदम दूर हैं कोहली, क्या…इन जोक्‍स को पढ़कर लोटपोट होने की गारंटी, यकीन न…बहनों की चौकड़ी ने जब शुरु किया बवाल, चौकी छोड़…14 साल की लड़की को अगवा कर बनाया मुसलमान, फिर…गुजरात दंगों में पीएम का नहीं कोई रोल, अमित शाह…VIDEO : रोहित ने किया है जो बड़ा दावा, क्या…बुंदेलियों ने फिर लिखी खून से चिट्ठी, क्या इस बार…विराट-अनुष्का की शादी को हुए दो साल, फोटो पोस्ट कर…यूपी की शिक्षा-व्यवस्था का देखिए सबूत, स्कूल में स्टूडेंट्स को…दूल्हा देर से लेकर पहुंचा बारात, दुल्हन ने फेरे ले…गृहमंत्री ने कहा-गलत सूचना फैलाने वाले बताएं कि यह बिल…नींबू में अगर इस तरह से गाड़ दी लौंग, तो…VIDEO : रोहित ने अचानक लिया ‘क्लीन शेव’ अवतार, इसकी…शादी तक के कागज निकले फर्जी, उसको तो सिर्फ सुहागरात…अनचाहे WhatsApp Groups में अगर नहीं होना चाहते Add, तो…पीके के पास सिर्फ 2 ऑप्शन- या तो खुद जेडीयू…अदालत के बाहर महिलाओं ने घेर लिया टीचर, मारा पत्थर…

दिल शाद था कि फूल खिलेंगे बहार में, मारा गया गरीब इसी ऐतबार में..

कॉन्फिडेंस हो तो संजय राउत सरीखा. आखिरकार मुख्यमंत्री तो शिवसेना का ही बनेगा. शिवसेना का मजाक उड़ाने वालों पर हंसने की बारी अब भाजपा विरोधियों की है. संजय राउत ने सच कहा था कि जिस-जिस पर जग हंसा है, उसी ने इतिहास रचा है.

कहा तो नितिन गडकरी ने भी सही था कि क्रिकेट और राजनीति में कई बार जिसकी जीत तय नजर आती है वो हार जाता है. अजीत पवार के समर्थन के बलबूते मैदान मारने का मुगालता पालने वाली बीजेपी भी बाजी हार चुकी है. हड़बड़ी में ब्याह रचाने पर सिंदूर कनपटी पर लगना ही था. 80 घंटे में अभी हाथों पर लगी सत्ता की मेंहदी सूख भी नहीं पाई थी कि फडणवीस को इस्तीफा देना पड़ा. दिल शाद था कि फूल खिलेंगे बहार में, मारा गया गरीब इसी ऐतबार में.

इस्तीफा देने से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस करके देवेंद्र फडणवीस ने शिवसेना की बेवफाई गिना कर उस पर लानत भेजी. लेकिन देवेंद्र बाबू ये भूल गए कि ये सियासत है जहां नैन मटक्का किसी के साथ, फेरे किसी के साथ और सुहागरात किसी और के साथ मनाई जाती है. वैसे भाजपा किस मुंह से नैतिकता की दुहाई दे रही है? वो खुद उस अजीत पवार संग रंगरेलियां मनाने जा रही थी जिसके भ्रष्टाचारी चरित्र पर पहले वही उंगली उठाती आ रही थी.

वैसे महाराष्ट्र में कोई किसी पर उंगली उठाने लायक बचा नहीं है. अवसरवादिता के हमाम में सब नंगे खड़े हैं. दलील की हथेलियों की आड़ लगाकर अपने अधोअंगों को ढकने की कोशिश बेकार है. सत्ता के समर में किसी की जीत नहीं बल्कि सिर्फ हार हुई है. और हारी केवल जनता है.

जिस शिवसेना ने भाजपा संग चुनाव लड़कर कांग्रेस-एनसीपी को गरिया कर लोगों से वोट मांगे, वो अब उन्हीं के साथ गलबहियां डालकर सत्तासुख भोगने जा रही है. बेशर्मी की हद ये कि ये धत्कर्म बाला साहब से किए गए वादे को निभाने की आड़ लेकर किया जा रहा है. अपने पिता से शिवसैनिक को महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने के किए गए वादे की कीमत उद्धव ने बाला साहब की अर्जित हिंदुत्व की पूंजी को गंवा कर चुकाई है.

इसे पुत्रमोह की मजबूरी समझिए या कूटनीतिक जरूरत, उद्धव उसी कांग्रेस के साथ खड़े हो गए जिसे बाला साहब ‘हिजड़ों की पार्टी’ कहते थे. मातोश्री के प्रति निष्ठा की सौगंध खाने वाले शिवसैनिकों को ‘माताश्री’ के नाम की शपथ लेते देखना वाकई हाहाकारी है. शिवसेना ने कुछ पाने की एवज में क्या खोया है, इसका अहसास उसे तब होगा, जब उसके पास खोने को कुछ बचेगा नहीं. कांग्रेस का क्या है, उसके पास तो खोने को वैसे भी कुछ नहीं बचा है.

खोया तो भाजपा ने भी काफी कुछ है. मुख्यमंत्री की कुर्सी की खातिर शिवसेना के दुश्मन पाले से मिल जाने से भाजपा को जो सहानुभित हासिल हुई थी, उसे उसने अजीत पवार को गले लगाकर गंवा दिया है. अधर्म से लड़ने के लिए अधर्मियों का साथ लेने की मजबूरी को युद्ध की कृष्णनीति बताकर भाजपा समर्थक लाख जस्टिफाई करें, हकीकत यही है कि महाराष्ट्र की महाभारत में उसकी काफी भद्द पिटी है. शह-मात के खेल में फिलहाल शाह को शह मिली है.

विरोधियों ने चाणक्यत्व को चुनौती दी है. अमित शाह की ये कहकर खिल्ली उड़ाई जा रही है कि टकला होने से कोई चाणक्य नहीं बन जाता. अब देखना है कि मोटा भाई इस अपमान का बदला कैसे लेते हैं? शाह की कार्यशैली बताती है कि ‘सब कुछ करने का लेकिन मोटा भाई का ईगो हर्ट नहीं करने का.‘ अमित शाह के समर्थक तो दावा कर भी रहे हैं कि शेर ने शिकार के लिए दो कदम पीछे खींचा है.

उधर उद्धव ने भी आगाह कर दिया है कि बीजेपी को अब बताएंगे कि शिवसेना क्या चीज है. भाजपा ने अभी उसकी दोस्ती देखी है, अब उसे दुश्मनी दिखाएंगे.

महाराष्ट्र की महाभारत का 19वां अध्याय लिखा जाना अभी बाकी है.

ये लेख वरिष्ठ टीवी पत्रकार सौरभ तिवारी के फेसबुक पेज से साभार लिया गया है। ये लेखक के निजी विचार हैं।

Share this post

scroll to top