जुबान पर जमे सफेदी तो हो जाएं सावधान, गंभीर बीमारी का है लक्षण

0
164

अगर आप सुबह सुबह अपने दिनचर्या में लगते हैं तो सबसे पहले बड़े ही मेहनत से अपना दांत साफ करते हैं लेकिन आप अपने दांत को चमकाने के बीच आप हमेशा अपने जीभ पर ध्‍यान देना भूल जाते हैं। जी हां दांतों को चमकाने के साथ आप अगर अपने जीभ के रंगों पर ध्‍यान दें तो आपको कुछ खास पता चलेगा। जी चौंकिए मत ये सत प्रतिशत सच है आपके जीभ का रंग आपके स्वास्थ्य के बारे में बहुत सी बातें बताता है।

अगर जीभ हमें स्‍वाद की पहचान कराता है तो वो हमारे स्‍वास्‍थय की भी पहचान कराता है। आपने कई बार देखा होगा कि जब आप किसी रोग की जांच कराने जाते हैं तो डॉक्‍टर आपकी जुबान जरूर देखते हैं। ऐसा इसलिए कहा जाता है क्‍योंकि हमारी जीभ का रंग देखकर हमारे स्वास्थ्य के बारे में बहुत कुछ बताया सकता है। तो आइए जानते हैं ये कैसे संभव है

सफेद छाले या लाल घाव :

अगर आपके जीभ पर सफेद व लाल रंग के छोटे छोटे घाव यानि दाने जैसे दिखते हैं तो समझ जाइए कि आपको पेट से संबंधित समस्‍या है क्‍योंकि हमारी जुबान का सीधा संपर्क हमारे पेट से भी होता है इसलिए हमारे पाचन प्रक्रिया में गड़बड़ी का सामना करना पड़ता है जिसका असर सीधे हमारे जीभ पर दिखने लगता है। वहीं कई बार इस तरह के घाव हार्पीज नाम की गंभीर बीमारी का भी संकेत देते हैं इसलिए अगर ये छाले सामान्य उपचार से या अपने से एक सप्ताह तक ठीक न हो तो आप डॉक्‍टर से संपर्क जरूर करें।

सफेद परत आ जाना :

कई बार आपने ध्‍यान दिया होगा कि आपके जीभ पर सफेद रंग की एक परत जम जाती है तो ये एक तरह से आम बात होता है क्‍योंकि ये जीभ के स्वस्थ होने का लक्षण है। जानकारी के लिए बता दें कि ये एक तरह की फफूंदी होती है जिसे कैंडिडा कहते हैं और इसके होने से जुबान पर किसी तरह का नुकसान नहीं होता है लेकिन अगर ये रंग हल्का पीला हो जाए या फिर ये परत थोड़ी मोटी हो जाए तो ये यीस्ट इंफेक्शन के लक्षण हैं और ये जानलेवा भी साबित भी हो सकते हैं।

लाल रंग के छाले पड़ जाना:

कई बार जुबान के नीचे या ऊपर लाल रंग के छाले जैसा उभर जाता है जो कि कैंसर का संकेत हो सकता है। वहीं इन उभारों की साथ साथ अगर छालों जैसे होती है तो ये खुद दो सप्ताह में ही ठीक हो जाते हैं वहीं कई बार ये छाला दो महीने में नहीं होता है तो आपको जल्‍द से जल्‍द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। कई बार इन उभारों में आपको दर्द या कोई अन्य समस्या नहीं होती है फिर भी डॉक्टर से संपर्क करें। कई बार कैंसर जैसे गंभीर रोग शुरुआती स्टेज में शारीरिक तकलीफ नहीं देते हैं।

जीभ का ज्यादा लाल या मुलायम हो जाना :

यदि आपकी जुबान का रंग गहरा लाल हो गया है या फिर आपको ये अत्‍यधिक मुलायम लग रहा है तो ये श‍रीर में विटामिन बी 12 या आयरन की कमी का संकेत है। वहीं इस हालत में कई बार गरम लिक्विड पीने या नमक, मिर्च वाला खाना खाने से मुंह में तेज दर्द होता है। वेजिटेरियन लोगों में अक्सर विटामिन बी12 की कमी होती है क्योंकि ये ज्यादातर मांस में पाया जाता है।

जीभ पर भूरी या हल्की काले रेशे सा बन जाना :

जुबान पर इस तरह के रेशे का बनना भले ही देखने में बेकार लगता हो लेकिन निश्‍चिंत रहें क्‍योंकि ये किसी गंभीर बिमारी का संकेत नहीं होते हैं डॉक्‍टरों का मानना है कि इसमें कोई चिंता की बात नहीं है। दरअसल जुबान पर छोटे-छोटे उभार होते हैं जिन्हें पैपिला कहा जाता है। आमतौर पर ये खाना चबाने या पानी पीने के दौरान टूटते रहते हैं इसलिए हमें पता नहीं चलता है लेकिन कई बार ऐसा भी होता है कि व्‍यक्ति के उम्र बढ़ने के साथ साथ ये बैक्टीरिया जम जाने के कारण जीभ का रंग भूरा या काला दिखने लगता है। इससे शरीर को कोई गंभीर नुक्सान तो नहीं होता लेकिन कई बार इसकी वजह से सांसों से बदबू आने लगती है इसलिए हमेशा जीभ भी साफ करनी चाहिए।