जन्माष्टमी पर कान्हा को लगाया जाता है 56 पकवानों का भोग, जानिए क्यों

0
68

 

श्री कृष्ण जन्माष्टमी भाद्र माह में मनाई जाती है। कहते हैं जैसे सावन माह भगवान शंकर को बहुत प्रिय होता है उसी तरह भाद्र माह भी बहुत प्रिय होता है। कृष्ण जन्माष्टमी पूरे देश में मनाई जाती है। आपकी जानकारी के लिए बता दें की हिंदू पुराणों के अनुसार भाद्र माह की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मध्यरात्रि को अत्याचारी कंस का विनाश करने के लिए मथुरा के कारागार में श्री कृष्ण का जन्म हुआ। उस दिन से लोग साल के कृष्ण पक्ष को जन्माष्टमी मनाई जाने लगी। आपको बता दें इस दिन स्वयंम भगवान कृष्ण ने पृथ्वी पर अवतारित हुए थे इस लिए जन्माष्टमी का पर्व खास माना जाता है।

इस दिन भगवान श्री कृष्ण की पूजा अर्चना की जाती है और उन्हें 56 भोग भी लगाया जाता है। पूरी मथुरा नगरी को सजाया जाता है और भक्ति गीतों के साथ सभी नाचते गाते हैं। इस दिन सभी कृष्ण भक्त जन्माष्टमी का व्रत रखकर अष्ठमी की रात 12 बजे भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाते हैं। कान्हा जी योगेश्वर के पालनहार श्री कृष्ण का एक अवतार हैं। जन्माष्टमी के दिन सभी श्रद्धालु श्री कृष्ण जन्मभुमि के दर्शन के लिए जाते हैं।

जन्माष्टमी पर भगवान कृष्ण के लिए उनकी पंसद के भोग प्रसाद के रूप में जरूर बनाने चाहिए, क्योंकि ये प्रसाद उनके प्रिय व्यंजन रहे हैं। भगवान के लिए झांकियां सजाने और पूजा स्थल के डेकोरेशन और व्रत करने से ही पूजा पूरी नहीं होगी। जब तक आप कान्हा के मनपसंद भोग को नहीं बनाती पूजा अधूरी ही रहती है।

खास बात ये है कि कान्हा का ये भोग बेहद आसानी से बनने वाला भी होता है। कान्हा को दूध और दूध से बनी चीजें ही सबसे ज्यादा पसंद थीं। इसलिए उनके भोग में दूध से बने भोग जरूर होने चाहिए। तो आइए जन्माष्टमी पर कुछ ऐसे ही भोग बनाए जिनका पारन कर कान्हा भी प्रसन्न हो जाएं।

भगवान श्रीकृष्ण के लिए तैयार करें भोग

चरणामृत या पंचामृत  
500 ग्राम दूध,एक कप दही,एक चम्मच घी, एक चम्मच शहद, एक चम्मच गंगाजल पंचामृत में होना ही चाहिए। इसके अलावा आप इसमें 100 ग्राम चीनी, चिरौंजी,मखाना भी डालें। इसे बनाने के लिए कच्चे दूध में सारी सामग्री मिला दें। बस दही का इस्तेमाल अंत में करें। बस हो गई पंचामृत तैयार।

धनिया पंजीरी 
इसके लिए करीब सौ ग्राम दरदरा धनिया पाउडर लें। साथ ही 3 टेबल स्पून घी, आधा कम मखाना, आधा कप पीसी चीनी, घिसा हुा नारियल, कुछ कटे हुए काजू ,बादाम, चिरौंजी ले लें। अब एक कढ़ाई में एक चम्मच घी डालकर धनिया को सुगन्ध आने तक भून लें अब इसमें सभी कुछ मिला कर कुछ देर और भूनें और नीचे उतार कर चीनी मिला लें।

श्रीखंड
500 ग्राम गाढ़ा दही ले और उसे कपड़ें में बांधकर कुछ देर लटका दें ताकि उसका सारा पानी निकल जाए और वह एकदम गाढ़ा हो जाए। अब इसमें 150 ग्राम आइसिंग शुगर,3 ग्राम इलाइची पाउडर, 5 ग्राम केसर, 2 बूंद गुलाब जल, 10 ml दूध और ड्राई फ्रूटस को महीन काट कर मिला लें। बस हो गया श्रीखंड भी तैयार।

मखाने की खीर
250 ग्राम मखाना लेकर उसे हल्का भूरा होने तक एक कढ़ाही में घी डाल कर भून लें। अब करीब डेढ़ लीटर फुल क्रीम दूध लेकर इसमें मखाना को तब तक पकाएं जब तक दूध एगाढ़ा न हो जाए। चीनी स्वाद अनुसार दूध के उबलते समय ही डाल दें। अब इसमें मनपंसद ड्राई फ्रूट्स डाल दें।