छत्तीसगढ़ में कोरोना ने तोड़े रिकॉर्ड, 3336 नए मरीज मिले, 18 की मौत

0
24

रायपुर. कोरोना वायरस पूरी तरह से अनियंत्रित होकर समूचे प्रदेश को अपनी गिरफ्त में न सिर्फ ले चुका है, बल्कि अगस्त में औसतन हर दिन 22 से अधिक लोगों की जान ले रहा है। सोमवार को जोगी सरकार में मंत्री रहे चनेशराम राठिया ने कोरोना से लंबी लड़ाई के बाद अंतिम सांस ली। धरमजयगढ़ से 6 बार विधायक रहने वाले राठिया के निधन पर मुख्यमंत्री ने दुख व्यक्त किया है।

वहीं एक और कोरोना वॉरियर हेल्थ केयर वर्कर डॉ. बीपी बघेल भी कोरोना जंग हार गए। कसडोल ब्लॉक के बरपाली गांव में मेडिकल ऑफिसर के पद पर पदस्थ डॉ. बघेल को 8 सितंबर को आंबेडकर अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उन्हें सांस लेने में तकलीफ की शिकायत थी। धीरे-धीरे वे वेंटिलेटर पर चले गए और उनकी मौत हो गई। अब तक तीन सरकारी डॉक्टर को कोरोना अपना शिकार बना चुका है।

उधर, लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव है, उनकी पत्नी भी संक्रमित पाई गई हैं। धर्मजीत सिंह की तबीयत खराब होने पर पत्नी सहित उन्हें रायपुर के श्रीनारायणा हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है। आंबेडकर अस्पताल अधीक्षक डॉ. विनीत जैन भी संक्रमित पाए गए हैं। उनके माता-पिता पहले से संक्रमित हैं, सभी आंबेडकर अस्पताल में भती हैं। पुलिस मुख्यालय में पदस्थ डीआईजी ओपी पॉल तीन महीने में दूसरी बार संक्रमित पाए गए हैं।

एक दिन में सर्वाधिक मरीज मिले
सोमवार को प्रदेश में 3,336 मरीज मिले, जो एक दिन में मिले सर्वाधिक मरीजों की संख्या हैं। अब तक दो बार संक्रमित मरीजों की संख्या 3 हजार से अधिक पहुंच चुकी है। संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 67,327 पहुंच गया है। वहीं सोमवार 18 लोगों की मौत हुई, जिनमें से 7 रायपुर जिले के निवासी हैं। कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या अब 573 जा पहुंची है। मौतों के बढ़ते आंकड़े ने सरकार की नींद उड़ा कर रख दी है, मगर इसकी रोकथाम का कोई विकल्प सरकार को नहीं सूझ रहा।

पहली बार 21,562 लोगों की जांच
प्रदेश सरकार ने रविवार को ही 20 हजार कोरोना जांच का लक्ष्य रखा था, और सोमवार को 21,562 लोगों की जांच हुई। इसलिए संक्रमितों की संख्या 3,336 जा पहुंची।