खड़े होकर पीते हैं पानी तो बदल दें आदत, वरना आ जाएगी बड़ी मुसीबत

0
89

पानी हमारी दिनभर की जीवनचर्या का एक अहम हिस्सा होता हैं. शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा का होना आवश्यक होता हैं. डॉक्टर एक व्यक्ति को दिन में 8-10 ग्लास पानी पीने की सलाह देते हैं. पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से पेट से सम्बंधित कई रोग दूर हो जाते हैं.

लेकिन आज की व्यस्तता से भरी ज़िन्दगी के चलते लोगो के पास शांति से बैठ दो घुट पानी पीने तक का समय नहीं हैं. आप ने कई बार देखा होगा कि लोग जल्दी जल्दी में खड़े रहकर ही पानी पी लेते हैं. यदि आप भी ऐसा करते हैं तो संभल जाइए. खड़े होकर पानी पीना कई तरह की बिमारियों को दावत देता हैं.

खड़े होकर पानी पीने के नुकसान

1. खड़े होकर पानी पीने से किडनी पर नकारात्मक असर पड़ता हैं. किडनी हमारे शरीर के पानी को फ्लिटर कर मूत्राशय से बाहर करने का काम करती हैं. जब आप खड़े होकर पानी पीते हो तो किडनी पानी को ठीक से फ़िल्टर नहीं कर पाती हैं, नतीजन शरीर के खून में गंदगी जमने का खतरा पैदा हो जाता हैं. यदि ऐसा हुआ तो जल्द ही आप मूत्राशय, दिल और गुर्दे की बिमारी से ग्रसित हो जाएंगे.

2. जो लोग खड़े होकर पानी पीते हैं उनका पाचन तंत्र हमेशा बिगड़ा रहता हैं. इसका कारण यह हैं कि खड़े होकर पानी पीने से पेट की अंदरूनी दिवार पर जोर पड़ता हैं जिसके चलते पेट के आस पास के अंग क्षतिग्रस्त हो सकते हैं.

3. बहुत कम लोग जानते हैं कि खड़े होकर ज्यादा पानी पीने से आप गठिया और जोड़ो के दर्द के शिकार हो सकते हैं. दरअसल जब आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो शरीर के तरल पदार्थो का संतुलन बिगड़ जाता हैं. ऐसा होने से आपके जोड़ो में मौजूद तरल पदार्थ भी गड़बड़ी पैदा करने लगते हैं और आपको आर्थराइटिस जैसी बिमारी हो जाती हैं.

4. खड़े होकर पानी पीने का एक नुकसान यह भी हैं कि इस से प्यास ज्यादा देर तक बुझती नहीं हैं उल्टा व्यक्ति को और ज्यादा प्यास लगती हैं.

5. कब्ज अपच जैसी बिमारिया होने के पीछे भी खड़े होकर पानी पीने की आदत होती हैं. जब आप खड़े खड़े पानी पीते हो तो पेट पर अधिक जोर पड़ता हैं जिसके चलते आपकी पाचन क्रिया कमजोर पड़ने लगती हैं.

6. जो लोग खड़े हो कर पानी पीते हैं उनकी बॉडी शरीर में बनने वाले एसिड को नियंत्रित नहीं कर पाती और शरीर में एसिड की मात्रा बढ़ जाती हैं. यह प्रक्रिया खराब एसिडिटी को जन्म देती हैं.