सेहत

खुलासा: मर्द भी सहते हैं मुश्किल दिनों का दर्द, आते हैं पीरियड्स !

यह बात सुनने में तो अजीब लगती है. लेकिन एक सर्वे के अनुसार चार में से एक मर्द को हर महीना माहवारी होती है. अंतर सिर्फ इतना होता है कि महिलाओं की तरह पुरुषों में रक्त स्राव नहीं होता बाकी सब लक्षण मौजूद होते हैं.

 

सर्वे रिपोर्ट यह कहती है कि पुरुषों में लक्षण वैसे ही होते हैं जैसे महिलाओं में होती है. यानी कि पुरुषों के पेट में ऐंठन होती है, जल्दी जल्दी थकान महसूस होती है, इस दौरान पुरुष पीछे खड़े हो जाते हैं, और पुरुषों को भी अलग तरह की चीजें खाने का मन करता है जिसे क्रेविंग कहते हैं.

इस से गुजरने वाले पुरुषों की महिला साथियों में दो तिहाई महिलाओं ने यह माना है कि उनके पार्टनर के साथ सब होता है. और पुरुष माहवारी जैसी चीज सच में होती है. जबकि सर्वे में महिलाओं ने कहा है कि उनसे भी बुरा हाल इस दौरान पुरुषों को होती है.

यूके में 2412 लोगों पर सर्वे किया गया जिसमें 1206 मर्द थे. यह लोग 12 महीने से ज्यादा रिश्ते में रहे. उनमें से 26% पुरुषों में यह लक्षण पाए गए इस सर्वे में महिलाओं से पूछा गया कि इस दौरान साथी के दर्द को कम करने के लिए कुछ किया या नहीं जिसमे 43 परसेंट महिलाओं का जवाब हां में था. उन्होंने साथी को खुश करने का प्रयास किया 33% महिलाओं ने बस उन्हें मर्द की तरह मजबूत बनने की सलाह दी.

इन लक्षणों में 56% चिड़चिड़ापन, 51% थकान होना, 45% क्रेविंग, 43% बात- बात पर दुखी होना, 43% भूत का अधिक लगना और 15% शरीर में सूजन होना. शोधकर्ताओं का मानना है कि मर्दों के हार्मोन चंद्र कलाओं के साथ घटते- बढ़ते रहते हैं. इसी पर उनका दाढ़ी वढना निर्भर करता है.

Back to top button