कोरोना से मौत के बाद ऐसे ही होगा अंतिम संस्कार, ये गाइडलाइन जारी की सरकार

0
234

रीवा. कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के बाद अंतिम संस्कार करने के लिए नगर निगम ने गाइडलाइन जारी की है। पूर्व में लापरवाही की घटना के बाद अब नगर निगम आयुक्त ने जिम्मेदारी सौंपी है। निगम की ओर से दो टीमों का गठन किया गया है, जिसमें पांच-पांच लोग शामिल किए गए हैं। पुलिस द्वारा कोरोना संक्रमण से मृत व्यक्ति की सूचना देने पर कफन-दफन की व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए निर्धारित गाइडलाइन के अनुसार ही काम करना होगा। अंतिम संस्कार के लिए आवश्यक सामग्री श्मशान घाट में उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी अधीक्षक टीबी सिंह को सौंपी गई है। इनके सहयोगी के रूप में रामकुशल मिश्रा की ड्यूटी लगाई गई है। पूर्व में सतना जिले से आए कोरोना संक्रमित के अंतिम संस्कार में बड़ी लापरवाही नगर निगम की सामने आई थी।

अधजला शव छोड़कर कर्मचारी चले गए थे। इसके बाद उन कर्मचारियों को क्वारंटीन में नहीं रखा गया जिनकी ड्यूटी इसमें लगाई गई थी। इस लापरवाही पर संभागायुक्त ने निगम आयुक्त अर्पित वर्मा और सहायक आयुक्त निधि राजपूत को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया है। घटना के करीब सप्ताह भर से अधिक समय बीत जाने के बाद भी कोई गाइडलाइन नहीं तय की गई थी, जिसके चलते निगम में टीमें गठित की गई हैं। इस आदेश में यह भी कहा गया है कि जो कर्मचारी अंतिम संस्कार में शामिल होंगे उन्हें होटल या अन्य सर्वसुविधा युक्त परिसर में क्वारंटीन किया जाएगा। इसकी नोडल सहायक आयुक्त निधि सिंह राजपूत को बनाया गया है, सह नोडल के रूप में एनयूएलएम के सिटी मैनेजर कृष्ण पटेल की ड्यूटी लगाई गई है। बताया जा रहा है कि इसके पहले मौखिक रूप से ही व्यवस्थाएं सौंपी गई थी, निगम आयुक्त को नोटिस मिली तो हड़कंप मचा और व्यवस्था बनाई जा रही है।

पूर्व में अंतिम संस्कार की राख पर सवाल
पूर्व में सतना जिले के कोरोना संक्रमित का बंदरिया मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार किया गया था। जिसकी राख और लकड़ी अब तक वहीं पड़ी है। अस्थियां लेने के लिए परिवार के लोग भी नहीं आए और निगम की ओर से इनका निस्तारण नहीं किया गया। इस वजह से मुक्तिधाम पहुंचने वाले लोगों में संक्रमण का डर बना हुआ है और वह उस क्षेत्र में नहीं जाते। कई लोगों ने मांग भी उठाई है कि इसकी कहीं और व्यवस्था की जाए।

ये कर्मचारी होंगे अंतिम संस्कार करने वाली टीम में
कोरोना संक्रमित का अंतिम संस्कार करने में जिन कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है उसमें प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी भागीरथ प्रसाद गौर, रईश अहमद, दीपक सिगोते के साथ दाह संस्कार करने के लिए सफाई कर्मचारी दिनेश, छन्नू, संतोष एवं छकौड़ी शामिल होंगे। इसी तरह दूसरी टीम में प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी रावेन्द्र सिंह, सुशील सिंह, अमर नाहर के साथ दाह संस्कार करने के लिए नीरज, कालीचरण, दीपक एवं अशोक की ड्यूटी होगी।