कोरोना से बचाएंगे ये उपाय, जानें राशि अनुसार करना होगा क्या ?

0
122

कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया में डर का माहौल है। यह वायरस अब दुनिया के ज्यादातर देशों में फैल चुका है। चूंकि इससे बचने की कोई दवा नहीं है और किसी तरह का टीका भी अभी तक नहीं बना, इसलिए सावधनी के तौर पर स्वच्छता बनाए रखने की सलाह चिकित्सकों के द्वारा दी जा रही है।

आज हम आपको कुछ ऐसे ज्योतिषीय उपाय बताने जा रहे हैं जिनको करने से आप इस वायरस से खुद को सुरक्षित कर सकते हैं। तो आईए अब आपको बताते हैं कि सभी 12 राशियों को इस वायरस से बचने के लिए कौन से ज्योतिषीय उपाय करने चाहिए।

मेष राशि– ‘ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः’ भौमाय नमः मन्त्र का जाप करें व किसी से कोई वस्तु मुफ्त में न लें। लाल रंग का रूमाल प्रयोग करें। सदाचार का पालन करें। वैदिक नियमों का पालन करें। बुजुर्गों की सहायता करें और उनका आशीर्वाद लें। मीठी रोटी गाय को खिलाएं। कोरोना वायरस ने

वृषभ राशि–  ‘ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः’  मन्त्र का जाप करें व सफेद चीजों का प्रयोग अधिक करें। चांदी के बर्तन में पानी पिएं। मंदिर में ध्वजा दान करें। अनैतिक संबंधों से जितना हो दूर रहने की कोशिश करें।

मिथुन राशि– ‘ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः’ मन्त्र का जाप करें व तामसिक भोजन का परित्याग करें। अस्पताल में मुफ्त दवाएं दान करें। गाय की सेवा करें व हरा चारा खिलाएं। फिटकरी से दांत साफ करें और आसपास स्वच्छता बनाए रखें।

कर्क राशि– ‘ॐ श्रां श्रीं श्रौं सः चंद्राय नमः’ मन्त्र का जाप करें व चांदी, चावल लेकर अपने पास रखें और दुर्गा पाठ करें। धार्मिक कार्यों में मन लगाएं। तीर्थस्थान की यात्रा करने से किसी को न रोकें। यदि आप डॉक्टर हैं तो रोगियों को मुफ्त में दवा दें।

सिंह राशि– ‘ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः’ मन्त्र का जाप करें अखरोट व नारियल का किसी धर्मिक स्थान में दान करें। अंधे को भोजन कराएं। किसी का अहित न करें। वैदिक एवं सदाचार के नियमों का पालन करें।

कन्या राशि –  ‘ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः’ मन्त्र का जाप करें दुर्गा सप्तशती का पाठ कर छोटी कन्याओं से आशीर्वाद लें। शनि से संबंधित उपचार करें। चांदी का छल्ला धारण करें व गणेश जी  की आराधना करें।

तुला राशि– ‘ॐ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः’ मन्त्र का जाप करें गौमूत्र का पान करें। तवा, चिमटा, चकला और बेलन धर्मिक स्थान में दान दें। कुल देवी का पाठ करें व घर से निकलते समय बड़ों का आशीर्वाद लें।

वृश्चिक राशि– ‘ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः’ मन्त्र का जाप करें तंदूर की मीठी रोटी बनाकर गरीबों को खिलाएं। किसी से मुफ्त का माल न लें। प्रातःकाल शहद का सेवन कर हनुमान जी को सिंदूर और चोला चढ़ाएं।

धनु राशि– ‘ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरूवे नमः’ मन्त्र का जाप करें व भिखारियों को निराश न लौटने दें। तीर्थयात्रा के लिए दूसरों की मदद करें। गुरु, साधु और पीपल की पूजा करें। पीले फूल वाले पौधे लगाएं व भगवान विष्णु जी को अर्पित करें।

मकर राशि– ‘ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः’ मन्त्र का जाप करें और साधु संतों की सेवा करें। असत्य न बोलें। पूर्व दिशा वाले मकान में निवास करें। अखरोट धर्म स्थान में चढ़ाएं और थोड़ा बहुत घर में लाकर रखें। भैंस, कौओं और मजदूरों को भोजन कराएं।

कुंभ राशि– ‘ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः’ मन्त्र का जाप करें व दक्षिण दिशा वाले मकान का परित्याग करें। चांदी का टुकड़ा अपने पास रखें। भैरव मंदिर में तेल और शराब का दान करें। सोना धारण करें।

मीन राशि-’ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरूवे नमः’ मन्त्र का जाप करें  हल्दी पानी से स्नान करें । धर्मिक सथ्ल पर जाकर पूजन करें। कुल पुरोहित का आशीर्वाद प्राप्त करें, संतों की सेवा करें और धर्म स्थान की सफाई करें।