कोरोना से जंग : जो लोग मानेंगे सरकार की ये बात, उनको मिलेगा ₹2000 ईनाम

0
96

Coronavirus के दौर में सर्तकता ही बचाव है। यह देखने में आया है कि बाहरी राज्यों और विदेश से अपने गृह क्षेत्र में लोगों के जाने का सिलसिला जब शुरू हुआ तो संक्रमण के मामले बढ़ते गए। इस समस्या से निपटने के लिए हर राज्य की सरकार की ओर से क्वारंटाइन अवधि पूरी करने पर जोर दिया जा रहा है। बाहर से आकर क्वारंटाइन होने के प्रति लोग जागरुक हो सके इसके लिए ओडिशा सरकार ने विशेष कदम उठाए है। इसी के तहत सरकारी क्वारंटाइन में नियत अवधि तक रहने के बाद घर लौटने वालों को 2000 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी।

WHO और केंद्र सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का ओडिशा में सख्ती से पालन किया जा रहा है। आपदा प्रबंधन में देशभर में नाम कमाने वाली नवीन पटनायक सरकार भी इस महामारी को लेकर बहुत गंभीर है। देशभर में अनलॉक 0.1 लागू होने के बाद भी राज्य में बढ़ते संक्रमण के मामलों को देखते हुए यहां प्रतिबंधों में सीमित छूट दी गई। राज्य में 30 जून तक प्रतिबंध जारी रहेंगे। इसी के साथ शनिवार व रविवार को पूर्ण लॉकडाउन लागू रहता है। विश्वविख्यात पुरी जगन्नाथ यात्रा को भी बिना श्रद्धालुओं के निकाला गया।

इधर बाहर से राज्य में आने वाले लोग सख्ती से क्वारंटाइन सेंटर में रह सके इसके लिए भी सरकार ने उन्हें प्रेरित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। इसी के तहत यह प्रावधान किया गया है कि कोई व्यक्ति सरकार के बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में 14 दिन रहने के बाद घर लौटता है तो उसे 2 हजार रुपए दिए जाएंगे। जाजपुर जिले में ऐसे 144 लोगों के खातों में 29 जून को ही यह राशि ट्रांसफर कर दिए गए।

यदि यहां रहने के दौरान कोरोना के लक्षण दिखाई देते हैं तो उसे अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। और जब व्यक्ति ठीक होकर घर लौटेगा तब उसे यह प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। प्रदेशवासियों ने भी सरकार की इस स्कीम का स्वागत किया है।

गौरतलब है कि ओडिशा में 245 नए कोरोना के मरीज सामने आए हैं। इस तरह राज्य में कुल मामलों की संख्या 6859 हो गई हैं। राहत की बात यह है कि 4946 मरीज ठीक हो चुके हैं, इसी के साथ एक्टिव केस 1883 हो गए हैं 30 लोग इससे जान गंवा चुके हैं।