ख़बरजरा हट केराजनीति

कोरोना संकट के बीच बड़ा फैसला, सरकार ने पीएम रिलीफ फंड का नाम बदला

देश में जानलेवा कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने बड़ा फैसला किया है. मोदी सरकार ने कंपनीज़ एक्ट में बदलाव कर दिया है. कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष के साथ पीएम केयर्स को भी अधिकृत किया गया है. यानी अब सीएसआर फंड पीएम केयर्स फंड में भी दिए जा सकेंगे. इसके साथ ही प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष का नाम बदलकर अब पीएम केयर्स फंड कर दिया गया है.

कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी की है कि PM CARES फंड में योगदान को कंपनियों के कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व (CSR) का हिस्सा माना जाएगा. यह अधिसूचना 28 मार्च 2020 से लागू मानी जाएगी.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार पीएम केयर्स फंड में कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) के फंड को भी जमा करने की अनुमति रहेगा. बताया जा रहा है कि 2013 के पीएम रिलीफ फंड के कुछ भागों को संशोधन कर पीएम केयर्स फंड बनाया गया है.

बता दें कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कोरोना से लड़ने के लिए बने पीएम केयर फंड की पारदर्शिता पर सवाल उठा चुके हैं. वो बोले थे कि सरकार को चाहिए कि वो पीएम केयर फंड का ऑडिट कर बताये कि किसने पैसे दिये और वो कहां खर्च हुआ?

पीएम मोदी ने 28 मार्च को कोरोना के खिलाफ जंग के लिए PM-CARES फंड का गठन किया था. साथ ही उन्होंने लोगों से इसमें चंदा देने की अपील की थी.

Back to top button