कोरोना : घर में रहने की सलाह दिया दुकानदार, गांववालों ने इतना मारा कि निकल गई जान

0
62

झारखंड में एक जिला है पलामू। बुधवार को पलामू के उदयपुर में एक घटना हुई। 45 वर्षीय दुकानदार ने जिसका नाम काशी बताया जा रहा है, वहां पर कुछ लोगों से कोरोना वायरस से बचने की सलाह दे रहा था। लोगों से कह रहा था कि कोरोना से बचने का एकमात्र उपाय है, घर में खुद को कैद कर लेना। इसलिए आप लोगों से आग्रह है कि आप लोग घर से बाहर न निकलें। लेकिन शायद उसका यह कहना कुछ लोगों को नागवार गुजरा, लोगों ने मिलकर उसे पीटना शुरू कर दिया। कुछ लोग उसे पीट रहे थे तो वहीं कुछ लोग उसकी दुकान में तोड़-फोड़ मचा रहे थे। जब गांव के लोगों ने पीटते-पीटते उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। तब जाकर रुके और वहां से सभी चले गए। गंभीर रूप से घायल दुकानदार को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन, शायद तब तक काफी देर हो चुकी थी और वह इंसान दम तोड़ चुका था।

कहने का मतलब साफ है एक तरफ पूरा देश चाहता है कि कोरोना वायरस से कैसे बचा जाए? कई सारे सेलिब्रिटीज और नेता इस बारे में बयान दे रहे हैं, सलाह दे रहे हैं कि सभी को चाहिए कि वह घर से बाहर न निकलें। राज्य सरकार भी इसके लिए प्रयास कर रही है कि जितना जल्दी हो सके लोगों को जरूरत के सामान उनके घरों तक उपलब्ध करवाए जाएं। लेकिन वही काम जब एक दुकानदार ने किया तो लोगों ने उसे मार डाला। इस घटना के बाद पूरे पलामू जिले में शोक का माहौल है। लोग घर से बाहर नहीं आ रहे हैं। राज्य सरकार भी प्रयासरत है।

अभी हाल की स्थिति की बात करें तो भारत में कोरोना वायरस के लगभग 600 से ज्यादा संक्रमित लोग पाए गए हैं जिनमें कई सारे लोग ठीक भी हुए हैं और 15 लोगों की अभी तक मौतें हुई हैं। लिहाजा अभी यह बिल्कुल नहीं कहा जा सकता है कि यह स्थिति कब तक चलने वाली है और आखिर कब जाकर इस पर नियंत्रण किया जा सकता है।

भारत सरकार के साथ-साथ इंडियन मेडिकल रिसर्च सेंटर भी लगातार कोरोना वायरस के काट को ढूंढने की कोशिशों में लगा हुआ है। आने वाले कुछ समय में वायरस का तोड़ भी निकालने की संभावना जताई जा रही है।