ख़बरदेश

कभी न सुधरेगा पाकिस्तान: आतंक पर लगाम की जगह दिया ये वाहियात बयान

हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान मे सरकारे आती जाती रहती है लेकिन आ’तंक को लेकर उनकी रणनीति बिल्कुल नहीं बदलती है। इमरान खान की सरकार भी उसी दिशा मे आगे बढ़ रही है।जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में अर्धसैनिक बलों की टुकड़ी पर हुए आत्मघाती आ’तंकी हमले ने पूरे देश को झिंझोड़ दिया है।देश मे गम और गुस्सा है लेकिन पाकिस्तान की और से न तो आ’तंकी हमले की निंदा हुई और न ही शहीदों के लिए तसल्ली के दो लफ़ज़ सुनने मे आये।उल्टा पाकिस्तान ने अपना पुराना राग अलापना शुरू कर दिया है।

हालांकि पाक समर्थित आ’तंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस घटना की जिम्मदारी ले ली है। लेकिन इस के बावजूद पाकिस्तान इसका आरोप उल्टा भारतीय खुफिया एजेंसियों पर लगाने की कोशिश कर रहा है। पाकिस्तान के पूर्व गृहमंत्री और पाकिस्तान पिपुल्स पार्टी (पीपीपी) के नेता रहमान मलिक ने आ’तंकी हमले को भारतीय खुफिया एजेंसी रॉ की साजिश बताया है। मलिक ने बेहद बचकाना आरोप लगाया कि अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में लंबित कुलभूषण जाधव के मामले ले से ध्यान हटाने के लिए भारत की खुफिया एजेंस ने यह हमले कराया हैं।पाकिस्तान के अंग्रेजी अखबार ‘द डॉन’ के मुताबिक शुक्रवार को एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए रहमान मलिक ने पुलवामा आ-तंकी घटना को भारतीय खुफिया एजेंसी की साजिश बताया। पाकिस्तान के पूर्व गृहमंत्री ने इतने पर ही बस नहीं किया बल्कि उन्होंने आरोप लगाया कि भारत तमाम हमलों का झूठा हमेशा आरोप पाकिस्तान पर मढ़ देता है।

उनके अनुसार भारत की कोशिश पाकिस्तान को अलग-थलग करने की है लिहाजा वह हमेशा कोई ना कोई साजिश रचता है।साथ ही उन्होंने कहा कि रॉ ने समझौता एक्सप्रेस में भी हमले कराए थे, ताकि दुनिया के सामने पाकिस्तान को गुनहगार ठहराया जा सके। रहमान मलिक ने 26/11 मुंबई हमले में शहीद पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे को लेकर भी बयान दिया। उन्होंने इसके लिए भी भारतीय खुफिया एजेंसियों को ही ज़िम्मेदार ठहराया । उन्होंने कहा कि हेमंत करकरे समझौता एक्सप्रेस धमाके के संबंध में रॉ और आरएसएस की मिलीभगत के बारे में जानते थे। लिहजा, रॉ ने उन्हें खत्म कर दिया।

Back to top button