एक बेटी का सुसाइड नोट: पापा गंदे हैं मम्मी, उनको मेरी लाश भी न छूने देना

33

दिल को चीर देने वाली ये घटना मध्य प्रदेश के इंदौर शहर की है. यहां के राजेंद्र नगर थाना क्षेत्र में 17 साल की एक लड़की ने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. पुलिस को मौका-एवारदात से लड़की का सुसाइड नोट मिला. इस सुसाइड नोट में लड़की लिख कर गई है कि, पिता मेरे पास नहीं आएं और न मुझे छुएं.

आइडीए मल्टी निवासी बलिराम निराले की 17 साल की बेटी संजना ने अपने घर में फांसी लगा ली. उसने जिस कमरे में फांसी लगाई वहां एफएसएल टीम ने जांच की. वहां दो पेज का सुसाइड नोट मिला. इस सुसाइड नोट को जिसने पढ़ा, वो रो दिया.

संजना ने इसमें लिखा है, मैं अपनी मर्जी से मर रही हूं. सॉरी मम्मी, मैं जा रही हूं. मैं फालतू बातें नहीं सुन सकती, पिता न मेरे पास आएं और न मेरे शरीर को छुएं. पहले पेज में एक लाइन व दूसरे में तीन लाइन लिखी हैं.

बेटी की मौत पर पिता बलीराम ने बताया, वे सेंटिंग का काम करते हैं. पत्नी बंगले में काम करती है. बेटी भी काम में हाथ बंटाती थी. वह आठवीं तक पढ़ी थी. परिवार में सबसे बड़ी संतान थी. बताया जा रहा है संजना का मोहल्ले के ही एक युवक से प्रेम-प्रसंग था. इसकी जानकारी पिता को लग गई थी. वह उसे बार-बार लडक़े से नहीं मिलने का कहकर रोकने-टोकने लगे थे. इसी बात से नाराज होकर वो पिता को अपना दुश्मन मान बैठी और जान दे दी.