ऋषिकेश एम्स की इंटर्न चिकित्सक के कोरोना (+) मचा हड़कंप

0
491

ऋषिकेश)। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में कार्यरत एक इंटर्न महिला चिकित्सक की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने से एम्स में हड़कंप मच गया। एम्स प्रशासन ने इंटर्न के संपर्क में आने वालों चिन्हित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इन सभी को क्वारंटाइन किया जायेगा। इसके साथ ही एम्स में भर्ती कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या चार हो गई है।

शनिवार को एम्स संस्थान की ओर से जारी बयान में डीन अस्पताल प्रशासन प्रो. यूबी मिश्रा ने बताया कि बीते शुक्रवार की रात संस्थान की एक इंटर्न महिला चिकित्सक की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एम्स प्रशासन के अनुसार कोविड संक्रमित इस इंटर्न डॉक्टर की ड्यूटी बीते माह 16 अप्रैल से इमरजेंसी विभाग में थी। पूर्व में कोरोना पॉजिटिव नैनीताल की महिला रोगी को भी इमरजेंसी विभाग में उपचार के लिए भर्ती किया गया था, तो काफी हद तक संभावना है कि यह चिकित्सक इसी महिला रोगी के संपर्क में आने से संक्रमित हुई है।

लिहाजा संस्थान की टीम ने संक्रमित चिकित्सक के संपर्क में आए लोगों की सूची बनाने का कार्य शुरू कर दिया है, जिसके बाद स्पष्ट हो सकेगा कि महिला इंटर्न कैसे संक्रमित हुई है। बताया कि यह रिपोर्ट कल तक आ जाएगी। उन्होंने बताया कि फिलहाल इंटर्न जिस हाॅस्टल में रहती थी, उसे पूरे हाॅस्टल में रहने वालों का क्वारंटाइन कर दिया गया है। यहां रहने वाले अन्य सभी इंटर्नस की टेस्टिंग शुरू कर दी गई है, जिनकी रिपोर्ट रविवार तक आने की संभावना है।

उन्होंने बताया कि संक्रमित इंटर्न डाॅक्टर के मूवमेंट वाले एरिया को भी चिह्नित कर सेनेटाइजेशन की प्रक्रिया चल रही है। इसके अलावा मेन इमरजेंसी वार्ड को भी सेनेटाइज किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि संस्थान ने हाल में ही कोविड इमरजेंसी को बंद कर दिया था और मेन इमरजेंसी सेवा को चालू रखा गया था, जहां सभी रोगियों को लिया जा रहा था। मगर अब मेन इमरजेंसी को सेनेटाइज किया जा रहा है, जिसके बाद इसे 24 घंटे के लिए बंद कर दिया जाएगा। साथ ही पूर्व में चल रही कोविड इमरजेंसी को दोबारा शुरू किया जा रहा है। प्रो.मिश्रा ने बताया कि इस बीच संस्थान इमरजेंसी मरीजों को कोविड इमरजेंसी में भर्ती करेगा, जिससे उन्हें उपचार में कोई दिक्कत नहीं आए।