क्राइम

उड़ते प्लेन में आतंक मचाया कट्टरपंथी, जबरदस्ती पढ़ी नमाज़, स्टाफ के साथ की मारपीट, सामने आया वीडियो!

इस्लामिक कट्टरपंथ के जिस तरह के मामले पूरी दुनिया में सामने आ रहे हैं, उसके बाद एक नई बहस ने जन्म ले लिया है और पूरी दुनिया इसको लेकर अब सतर्क भी  हो गई है, फ्रांस में हाल के दिनों में जो हुआ वो पूरी दुनिया ने देखा और उसकी प्रतिक्रियाएं भी हर ओर से आ रही है. फ्रांस की घटना ने एक बार फिर बढ़ते हुए इस्लामिक कट्टरपंथ की ओर दुनिया का ध्यान आकर्षित किया है. इसके बाद फ्रांस में जिस तरह से विरोध हो रहा है, वो भी किसी से छिपा नही हैं.  खुद सरकार भी इन कट्टरपंथियों को सबक सिखाने के लिए कड़े कदम उठा रही है. जनता के साथ साथ फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन भी इस मुहीम में शामिल हो गए हैं. मैक्रॉन के हाल के एक्शन के बाद तो दुनिया के मुस्लिम देश फ्रांस और उसके उत्पादों के बॉयकॉट की मुहिम चला रहे हैं. लेकिन इन सबके बीच सोशल मीडिया पर एयर फ्रांस के अंदर का जो वीडियो वायरल हो रहा है उसने फिर इस्लामिक कट्टरपन को बेनकाब कर दिया है.

इस वीडियो को विश्व हिन्दू परिषद् के प्रवक्ता विनोद बंसल ने ट्वीट किया है. वीडियो में आप देख सकते हैं , कि कैसे अल्लाह हु अकबर चिल्लाते हुए एक शख्स विमान के कॉकपिट में आया और नमाज़ पढ़ने लग गया…  इस दौरान मौजूद लोगों ने रोकने की कोशिश भी की, पर इस कट्टरपंथी को तो मजहब याद आ गया… इस पर अचानक मजहबी भूत सवार हो गया.  सोचिये अगर अल्लाह ने इसको याद कर लिया होता..  तो प्लेन में मौजूद सभी यात्री भी अल्लाह को प्यारे हो जाते.

विनोद बंसल के मुताबिक ये फ्रांस का विमान है, जो पेरिस-ओर्ली को ट्यूनिस से जोड़ता है.  विमान में नमाज पढ़ने के बाद भी युवक नहीं रुका.  अक्ल का अंधा ये शख्स नमाज पढ़कर उठता है और विमान में खड़े अन्य शख्स को जोरदार मुक्का जड़ देता है. इस मजहबी कट्टरपन के शिकार शख्स ने विमान के स्टाफ को इसलिए थप्पड़ जड़ा क्योंकि उसने इसे नमाज पढ़ने से मना किया था.

अब सवाल उन लोगों से हैं, जो ये कहते हैं, कि नमाज खुदा की इबादत है, उसे तो करने देना चाहिए, लेकिन सोचिए क्या ये वाकई खुदा की इबादत कर रहा था, या महज ढोंग.  क्योंकि कि इबादत करके उठा शख्स इतना उग्र कभी नहीं हो सकता, इबादत या प्रार्थन का बाद तो इंसान शांत होता है, क्योंकि ये चीज़ें शांति के लिए ही की जाती है. लेकिन जिस तरह से इस शख्स ने नमाज से उठकर स्टाफ को मुक्का जड़ा उससे ये साफ है कि ये बस नमाज खत्म होने का इंतज़ार कर रहा था और उठते ही ये मारने के लिए उतावना हो गया, खुदा का शुक्र है कि इसके पास हथियार नहीं था वरना यहां उसे स्टाफ की लाश पड़ी होती.

विनोद बंसल ने इसके साथ एक और वीडियो भी शेयर की है.  इसमें भी एक शख्स अल्लाह हु अकबर चिल्लाते हुए प्लेन के सुरक्षाकर्मियों से भीड़ जाता है. मानवता की दुहाई देने वाले ये कट्टरपंथी हिंसक हो जाए तो भी वामपंथी चुप रहेंगे. उनके मुताबिक़ तो कुछ गलत ही नहीं हुआ है.  विमान में नमाज़ ही तो पढ़ी है. फिर चाहे बाकी के लोगों की बलि ही क्यों न चढ़ जाए. हालांकि जब हमने इन वीडियो को पड़ताल की तो पता चला ये कि वीडियो अभी के नहीं हैं. ये वीडियो अगस्त 2019 के हैं और तब ये घटना घटित हुई थी, जिसपर खूब बवाल भी हुआ था.

नमाज पढ़ना ठीक है पर इस तरह से बाकी लोगों की जान को खतरे में डालकर खुदा की इबादत करना कितना सही है.  अपने मजहब का प्रचार प्रसार करना भी अच्छा है, पर किसी और की बलि चढ़ाकर क्यों ?


loading…

loading…

Back to top button