सेहत

इन चीज़ों के सेवन से हो जाता है कैंसर, लिस्ट में चाय से लेकर..!

दुनिया में ऐसे 90% लोग हैं, जो अपने खान पान की आदतों पर ध्यान ना देकर खुद को दिनों दिन मौत के निकट पहुंचा कर अपनी जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे हैं. आज हम आपको कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आज की युवा पीढ़ी की पहली पसंद बन चूका है लेकिन युवा इस बात से अनजान हैं कि यह खाना उन्हें कैंसर जैसी घातक बिमारियों के नज़दीक पहुंचा रहा है.

गौरतलब है कि खतरनाक फ़ूड की इस लिस्ट में चाय से लेकर खाने के कई अन्य ऐसे व्यंजन हैं, जिन्हें हम रोजाना खाते चले आ रहे हैं. तो अगर आप भी इन फूड्स का सेवन कर रहे हैं तो आज ही त्याग दें वरना यह आपको महंगा पड़ सकता है.

TV देखने के समय बहुत से लोग खाली बैठना पसंद नहीं करते इसलिए कुछ ना कुछ खाते रहते हैं. ऐसे में पॉपकॉर्न खाना सब की पहली पसंद बन चुका है. आज के समय में रेडी -टू – मेक पॉपकॉर्न का ट्रेंड बढ़ता चला जा रहा है. इसके पैकेट बाजार में आसानी से उपलब्ध है. इन्हें माइक्रोवेव में रखते ही कुछ समय में पॉपकॉर्न तैयार हो जाते हैं. हालांकि दिखने में यह पॉपकॉर्न साधारण पॉपकॉर्न की तरह ही लगते हैं परंतु इनका सेवन हमारे फेफड़ों को कमजोर बना देता है. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि माइक्रोवेव में पैकेट गर्म करने से यह कई तरह के केमिकल छोड़ता है. यह केमिकल जब माइक्रोवेव में मौजूद ऑयल मक्खन और पॉपकॉर्न के साथ मिलता है तो हमारे फेफड़ों को कैंसर देता है.

ड्रिंक्स आज की युवा पीढ़ी की पहली पसंद बन चुकी है. गर्मी हो या सर्दी हर कोई अपने साथ ड्रिंक जरूर रखता है. गौरतलब है कि कार्बोहाइड्रेट्स कैंसर का कारण बन सकती हैं. इसके इलावा बहुत सी डिब्बा – बंद ड्रिंक्स कार्बोहाइड्रेट से ही बनी होती है. इस बात का सबूत बोतल में बनने वाली गैस के बबल्स होते हैं. ड्रिंक का सेवन करते समय हमें जितना सुकून मिलता है उतना ही यह ड्रिंक हमारी सेहत के लिए नुकसानदायक सिद्ध होती है. कार्बोहाइड्रेट्स में कई प्रकार के हाई-फ्रुटोज कॉर्न सीरप, केमिकल्स और कलर्स मौजूद रहते हैं जो कैंसर का कारण बनते हैं.

अलग-अलग व्यंजनों में स्वाद बढ़ाने के लिए उन्हें मसालों और आयल का इस्तेमाल किया जाता है. आज के समय में बाजार में कई तरह के वेजिटेबल ऑयल मौजूद है. हालांकि सब्जियां खाना हमारी सेहत के लिए फायदेमंद है परंतु इन से बना हुआ तेल हमारे लिए नुकसानदायक सिद्ध हो सकता है. बहुत सारे वेजिटेबल ऑयल में ओमेगा-6 एसिड मौजूद रहता है. यह तेल हमारे फेफड़ों को कमजोर करता है और कैंसर का कारण बन सकता है.

हॉटडॉग एकमात्र ऐसा फ़ूड है, जिसमें सूअर का मांस, चिकन, सोडियम नाइट्राइट, सोडियम क्लोराइड, सोडियम फास्फेट, सोडियम लैक्टेट आदि जैसी चीजें मौजूद रहती है. अमेरिका में किए गए सर्वे के अनुसार यह बात सामने आई कि 18 फ़ीसदी लोग हॉट डॉग  खाने से पेट के कैंसर का शिकार हुए हैं.

आज के समय में चाय की चुस्कियां लेना हमारी जिंदगी का एक हिस्सा बन चुकी है. हालांकि चाय में चाहे जितनी स्वादिष्ट लगती है उतनी ही हमारी सेहत के लिए हानिकारक सिद्ध होती है. ब्रिटिश मेडिकल जनरल में प्रकाशित एक आर्टिकल के अनुसार ज्यादा गर्म चाय पीने से हमारे मुंह से पेट को जोड़ने वाली कोशिकाएं डैमेज हो जाती है जिससे कैंसर होने की आशंका अधिक बढ़ जाती है.

Back to top button