इंदौर में डॉक्टरों पर जो बरसे पत्थर, वो है ‘समोसे वाली चाची’ का कारनामा

0
218

इंदौर में लेडी डॉक्टरों पर हमला मामले में अब तक 13 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. गिरफ्तारी के बाद पूछताछ के दौरान पुलिस को कई अहम जानकारी मिली है. आरोपियों ने पुलिस के सामने यह खुलासा किया है कि आखिर किसके उकसाने पर उनलोगों ने स्वास्थ्यकर्मियों पर पथराव किया. स्थानीय अखबारों के अनुसार गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस के समक्ष दिए बयान में कहा है कि डॉक्टरों के मोहल्ले में आने के बाद समोसे वाली चाची का शोर सुना.

आरोपियों ने बताया है कि चाची ने हमलोगों के बीच में गलतफहमियां पैदा कर उकसाया. उनके उकसाने के बाद ही हमलोगों ने स्वास्थ्यकर्मियों पर हमला बोल दिया. बताया जा रहा है कि पुलिस अब समोसे वाली चाची की तलाश भी कर रही है. आरोपियों ने पुलिस से यह भी कहा है कि डॉक्टरों की टीम मुबारक की मां (जिन्हें मोहल्ले के लोग समोसे वाली चाची कहते हैं) के घर में स्क्रीनिंग कर रही थी. उन्होंने शोर करने के साथ ही डॉक्टरों को धमकाया भी था.

बता दें कि हमले में शामिल चार लोगों पर रासुका लगाया गया है. चारों को रीवा जेल में भेज दिया गया है. पुलिस अधिकारियों के अनुसार हमले में शामिल कुछ लोग हिस्ट्रीशीटर बदमाश हैं. इसमें मज्जू पूर्व में भी सांप्रदायिक दंगे, हत्या, हथियारों की खरीद-फरोख्त और पुलिस पर गोली चलाने का आरोपित रहा है.

पुलिस ने सभी आरोपियों को जेल भेज दिया है. इसके साथ ही इंदौर पुलिस पथराव के वीडियो को देख उन महिलाओं की पहचान करने में जुटी है जो इस भीड़ में शामिल थीं. पुलिस ने कहा है कि इस षडयंत्र में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा, उन्हें भी जांच के बाद आरोपित बनाया जाएगा.