आप जो पी रहे दूध के नाम पर, उसकी हकीकत जानकर हो जाएगी उल्टी

0
107

आप दूध तो बड़ी शौक से पीते है लेकिन क्या आप जानते है की आपका दूध शुद्ध है या फिर मिलावटी। हमारे देश में रोज जितना दूध का उत्पादन होता है खपत उससे चार गुना अधिक होती है। जिसका मतलब हमारे देश में खपत ज्यादा और उत्पादन कम हो रहा है।

तो इस कमी को पूरा करने के लिए दूध विक्रेता दूध में मिलावट करते है अब आप सोच रहे होंगे। यह दूध में पानी मिलाते होंगे लेकिन ऐसा नही है। एक सर्वे में पाया गया है की दूध में पानी, डिटर्जेंट,सफ़ेद पेंट आदि कई उत्पाद मिलाये जाते है। जिनके कारण कैंसर जैसी घातक बीमारियाँ होती है।

एनिमल वेल्फैर के अध्यक्ष मोहन वालिया ने अपनी रिपोर्ट में बताया था की भारत का जितना भी दूध उत्पादन होता है। उसका 68 फिसदी एफएसएसएआई के मानकों के आधार पर नही है जिसके कारण भारत के दूध में बहुत अधिक मात्रा मिलावट की जा रही है।

आजकल हर कोई दूध में होने वाली मिलावट को लेकर परेशान है। लेकिन जानकारी के अभाव में वो सिंथेटिक या मिलावटी दूध और सही दूध के बीच पहचान नहीं कर पाते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स दे रहे हैं जिनके जरिए आप घर बैठे ही मिलावटी दूध की पहचान कर सकते हैं।

असली दूध का स्वाद हल्का मीठा होता है, जबकि नकली दूध का स्वाद डिटर्जेंट और सोडा मिला होने की वजह से कड़वा हो जाता है। असली दूध स्टोर करने पर अपना रंग नहीं बदलता,जबकि नकली दूध कुछ वक्त के बाद पीला पड़ने लगता है।

अगर हम असली दूध को उबालें तो इसका रंग नहीं बदलता, वहीं नकली दूध उबालने पर पीले रंग का हो जाता है। असली दूध को हाथों के बीच रगड़ने पर कोई चिकनाहट महसूस नहीं होती। वहीं, नकली दूध को अगर आप अपने हाथों के बीच रगड़ेंगे तो आपको डिटर्जेंट जैसी चिकनाहट महसूस होगी।