आत्म निर्भर भारत : ‘भक्त’ ने फेंका लाखों का विदेशी सामान, दुकान का भी बदल लिया नाम !

0
558

ये हैरान करने वाली खबर झारखंड के रामगढ़ से है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए लोकल सामान खरीदने का आह्वान किया। उनसे प्रेरित होकर रामगढ़ के एक दुकानदार ने सारे विदेशी सामान फेंक डालें। उस दुकानदार ने ना सिर्फ अपनी दुकान में स्वदेशी और लोकल सामान बेचने का निर्णय किया, बल्कि उसने अपनी दुकान का नाम बदलकर स्वदेशी स्टोर ही रख डाला। गुरुवार को उसकी दुकान के सारे सामान कूड़ेदान में देख शहरवासी भौंचक्के रह गए।

यह पूरी घटना शहर के चाणक्यपुरी, विकास नगर मोहल्ले में हुई। इस मोहल्ले में संतोष गुप्ता अपनी जनरल स्टोर चलाते थे। उस दुकान में ऐसे कई उत्पाद थे जो विदेशों में निर्मित हुए थे। यहां तक कि कोल्ड ड्रिंक्स, व कई खाद्य पदार्थ दूसरे देशों के उत्पाद थे। इन सभी सामानों की कीमत लाखों में होगी। वहीं संतोष के इस करतूत के बाद सोशल मीडिया पर उसका जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है वहीं कुछ लोग कह रहे है लाखो रुपयों का सामान बाहर फेंकने से अच्छा लॉक डाउन में गरीबों की मदद करता।

2 दिन पहले प्रधानमंत्री ने जब अपने संबोधन में कहा कि आज लॉक डाउन में लोकल उत्पादों ने हमारी जान बचाई है। इन लोकल व्यापार में शामिल लोगों को समृद्ध और संरक्षित करना भी हमारा दायित्व है। उनके इस बात का संतोष पर इतना गहरा प्रभाव पड़ा कि उन्होंने इस पर विचार करना शुरू कर दिया।

गुरुवार की सुबह होते ही उन्होंने अपनी दुकान का नया नामकरण स्वदेशी स्टोर किया। इसके बाद दुकान में जितने भी सामान थे, उन्होंने सारे कूड़ेदान में फेंक डाले।

संतोष ने कहा कि अब वे सिर्फ वही सामान बेचेंगे जो हमारे देश में निर्मित होगा। साथ ही अपने आसपास बनने वाले सामानों को वे और अधिक प्राथमिकता देंगे। उनकी इस दुकान के सैकड़ों ग्राहक हैं। विकास नगर मोहल्ला रामगढ़ के बड़े मुहल्लों में एक है। इस मोहल्ले में कई बड़ेस्कूल और होटल भी स्थापित है।