अयोध्या से ही चुनाव प्रचार का आगाज, योगी बोले- राम बिना नहीं कोई काम

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पहला टेस्ट शुरू हो गया है. यह टेस्ट उत्तर प्रदेश के निकाय चुनाव का है जहां जनता योगी सरकार के सात महीने के कामकाज को अपनी कसौटी पर कसेगी. योगी अपना मिशन निकाय चुनाव अयोध्या से शुरू करेंगे. अयोध्या से निकाय चुनाव के लिए प्रचार शुरू करने पर CM योगी का कहना है कि राम के बगैर भारत में कोई काम नहीं हो सकता है, राम हमारी आस्था के प्रतीक हैं भारत की पूरी आस्था के केंद्र बिंदु हैं.

Advertisement

राम मंदिर विवाद को लेकर श्री श्री रविशंकर की ओर से की जा रही पहल पर सीएम योगी बोले कि बातचीत को लेकर किया गया कोई भी प्रयास स्वागत योग्य है. बातचीत तभी संभव होती है जब दोनों पक्ष तैयार हो. बुधवार को सीएम योगी और श्रीश्री रविशंकर की मुलाकात भी होगी.

advt

 

तूफानी दौरे की शुरुआत

आज योगी आदित्यनाथ, निकाय चुनाव के अपने तूफानी दौरे की शुरुआत कर रहे हैं और यह शुरुआत अयोध्या नगरी से हो रही है. जहां न सिर्फ योगी ने अपनी दिवाली मनाई थी बल्कि अयोध्या नगर पहली बार अपना मेयर भी चुनने जा रहा है. शनिवार को योगी आदित्यनाथ ने निकाय चुनाव का घोषणा पत्र जारी करते हुए इस बात को साफ कर दिया था उत्तर प्रदेश में होने वाले निकाय चुनाव उनके लिए टेस्ट की तरह है और जनता की नजरों में अबतक के  कामकाज की परीक्षा है.

अयोध्या है केंद्र में

जब योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या के लिए बड़े प्रोजेक्ट्स का एलान किया था और एक भव्य दिवाली मनाई थी तभी यह लगने लगा था कि अयोध्या को लेकर योगी आदित्यनाथ की सोच जितनी आध्यात्मिक है उतनी ही सियासी भी तभी तो एक तरफ राम मंदिर को लेकर अदालत के बाहर मामला सुलझाने की कोशिशें दिख रही है तो दूसरी ओर पर्यटन की संभावनाओं को लेकर बड़े ऐलान हो रहे हैं.

अयोध्या में रैली

मंगलवार को अयोध्या में सीएम योगी की सभा जीआईसी मैदान में दिन में एक बजे होगी जिसमें दस हजार लोगों के लिए परमिशन मांगी है. 14 नवंबर को योगी आदित्यनाथ अयोध्या के अलावा गोंडा और बहराइच में भी सभा करेंगे. शुरुआत अयोध्या से होगी लेकिन अगले 12 दिन के अंदर तकरीबन 33 सभाएं मुख्यमंत्री के लिए रखी गई हैं ताकि पूरा चुनाव उनके इर्द-गिर्द लड़ा जा सके.

योगी का पूरा कार्यक्रम

इस निकाय चुनाव में 33 सभाएं करेंगे सीएम योगी

14 नवम्बर को रामनगरी अयोध्या से सीएम के चुनाव प्रचार की शुरुआत

27 नवम्बर को भगवान बुद्ध की परिनिर्वाण स्थली कुशीनगर से होगा सीएम योगी द्वारा प्रचार का समापन

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में सीएम 1 दर्जन से अधिक सभाओं को करेंगे सम्बोधित,

प्रधानमंत्री मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी एक मात्र ऐसा नगर निगम जहां सीएम योगी करेंगे 1 दिन में 2 सभाएं

14 नवम्बर :– अयोध्या,गोंडा,बहराइच

15 नवम्बर :– कानपुर

16 नवम्बर :- अलीगढ,मथुरा,आगरा

17 नवम्बर :– इलाहाबाद

18 नवम्बर : मुजफ्फरनगर,मेरठ,गाजियाबाद

19 नवम्बर :- गाजीपुर,देवरिया

20 नवम्बर :- बलरामपुर,बस्ती,गोरखपुर

21 नवम्बर :- जौनपुर,बलिया,मऊ

22 नवम्बर :- वाराणसी

23 नवम्बर :- शाहजहांपुर,फर्रुखाबाद,कन्नौज

24 नवम्बर :- झाँसी,फतेहपुर,लखनऊ

25 नवम्बर :- बाराबंकी,लखीमपुर,बरेली

26 नवम्बर :- मुरादाबाद,सहारनपुर

27 नवम्बर :- कुशीनगर

पहली बार मेयर चुनेगा अयोध्या

अब तक फैजाबाद नगर परिषद हुआ करता था लेकिन योगी आदित्यनाथ ने न सिर्फ नाम बदलकर अयोध्या किया बल्कि बल्कि परिषद के बजाय अयोध्या को नगर निगम बना दिया गया है ताकि यहां मेयर चुना जा सके. यानि पहली बार अयोध्या अपना मेयर चुनेगा.

पहली बार निकाय चुनाव में घोषणापत्र

योगी आदित्यनाथ ने पहली बार नगर निगम के लिए भी अपना घोषणापत्र जारी किया यह पहली बार ही है जब कोई राजनीतिक दल निकाय चुनाव मे अपना घोषणापत्र लेकर सामने आया है बीजेपी के घोषणापत्र में सबसे ज्यादा तवज्जो स्वक्षता, महिलाओं के लिए पिंक टॉयलेट, सार्वजनिक जगहों पर वाई फाई आवारा पशुओं के लिए कांजी हाउस सरीखे मुद्दों को दी है अब देखना है जनता योगी को उनकी पहली परीक्षा में पास करती है या फेल.